• Yashwant Vyas Archive

एक अच्छी खबर से न डराओ

प्रिय पाठको, कृपया इस हफ्ते इन सूचनाओं को सिर्फ क्रम से पढ़ें –

sanjay dutt

यह उत्तम ही हुआ। वे जेल नहीं पिकनिक पर गए हैं और सुविधा के हिसाब से आपको समय-समय पर सूचनाएं मिलती रहेंगी कि वे साथी कैदियों से प्रेमपूर्वक मिल रहे हैं, दोपहर को खेलते हैं, घर का आया खाना बांटकर खाते हैं, पूजा-नमाज दोनों करते हैं और सब उनके जबर्दस्त फैन हो गए हैं। उधर मोहम्मद डोसा जो दाऊद इब्राहीम के परम अनुयायी हैं, जेल में बंद कई लोगों को कानूनी मदद दिलवाते हैं।

दाऊद की ओर से एक बड़े अखबार के संवाददाता को दिए गए विशेष ‘प्रेस बयान’ में छोटा शकील ने कहा है कि, भाई ने फिक्सिंग के धंधे में हाथ डालने से सख्ती से मना किया हुआ है। पिछले दिनों से हम रियलिटी बिजनेस में व्यस्त हैं और स्पॉट फिक्सिंग में उनका नाम घसीट कर खराब नहीं किया जाना चाहिए।

सलमान खान की अगली फिल्म का नाम ‘मेन्टल’ है और उसकी हीरोइन एक अपहरण केस में फरार है। खबरों के मुताबिक अपने चचेरे भाई के साथ एक लड़की का अपहरण करने की योजना बनाने में उनका योगदान है। सलमान खान हिरण-हत्या वगैरह से तो लोकप्रिय हैं ही, ‘दबंग’ के रूप में एक छैल-छबीले भ्रष्ट पुलिस वाले के रूप में ऊधम मचाने वाले ‘बिग बॉस’ भी हैं।

उल्लेखनीय है कि स्व. प्रमोद महाजन के बेटे राहुल महाजन ड्रग्स, पत्नी की पिटाई सहित कई मामलों में व्यस्त रहने के बाद ‘बिग बॉस’ के लायक हुए थे। यह हीरोइन भी ‘बिग बॉस’ स्तर की हैं। अबू सलेम की प्रेमिका मोनिका बेदी समेत जितने भी ऊंचे काम वाले लोग हैं, वे ‘बिग बॉस’ के लिए फिट और हिट पाए गए हैं। श्रीसंत के बारे में जब से पता चला है कि वे क्रिकेट की फिक्सिंग और लड़कियों के साथ नाइट पार्टी में भी पारंगत हैं, ‘बिग बॉस’ की नजरें उन पर टिकी हुई हैं।

हनुमान-हृदय दारासिंह के पुत्र विंदु क्रिकेट कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी की पत्नी के साथ हा-हा करते हुए आज दिखाई दे रहे हैं, वे भी पहले ‘बिग बॉस’ में पर्याप्त रो चुके हैं और एक पंजाबी फिल्म बना रहे थे जिसमें वो सब है, जो वे करते हैं। फिल्म पूरी होने से पहले वे रैकेट चलाने के धंधे में अंदर चले गए हैं। कहते हैं कि फिल्म के क्लाइमैक्स में यही सीन शूट करना बाकी था।

उधर क्रिकेट के शहंशाह उद्योगपति श्रीनिवासन, एक टीम के मालिक भी हैं और क्रिकेट एसोसिएशन की तरफ से टीमों का कारोबार भी चलाते हैं। उनके दामाद की बेकार मुसीबत आई हुई है। करोड़ों का विज्ञापन कारोबार करने वाले क्रिकेट कप्तान धोनी, उनकी कंपनी और क्रिकेट कंपनी-दोनों के साथी रहे हैं। इसीलिए हार-हार कर भी हर-हर गंगे हो रहा है।

साथ ही साथ आपको यह जानकर हर्ष होगा कि जाने-माने कवि स्व. श्रीकांत वर्मा के बेटे अभिषेक वर्मा ने सारी महारत हथियारों की अंतरराष्ट्रीय दलाली में हासिल की है और पता चला है कि कुछ बदनाम राजनेताओं ने श्रेष्ठतम कविताएं लिखकर जबर्दस्त वाहवाही लूट ली है।

यहां यह भी बताते चलें कि कलाकृतियों में मां-बहन की गालियों को मुख्यधारा में लाने की शानदार कोशिशें अंतत: सफल हो गई हैं। फिल्मों, कहानियों, गीतों आदि में यह सघन रूप से केंद्र में आ गया है। स्त्री देह के साथ बाजार की तरफ से जितने संभव वाचिक-चाक्षुष प्रयोग थे, वे उत्कर्ष पर पहुंच चुके हैं।

सोहराबुद्दीन वगैरह जैसे कई कुख्यात गुंडों को पुलिस जेल नहीं ले जा सकी, लेकिन उनकी हत्या में कई व्यापारी-नेता-मंत्री जेल जाने की तैयारी कर रहे हैं। भ्रष्टाचार के विरुद्ध अभियान में एक राज्य में गिरी सरकार के खिलाफ नई सरकार में चुनकर पांच खनन माफिया आए हैं।

किसी विराट केस में मामूली-सा चौकी इंचार्ज कोर्ट में पहुंचने से पहले ट्रैफिक में फंस गया है, ताकि शनिवार को जमानत न हो सके और अगले हफ्ते तक सामने वालों की पिटाई हो जाए और किसी मामूली से केस में पूरी फौज घर जाकर अस्पताल में जमानत के इंतजाम कर आई है।

अब आप ही बताइए, व्यंग्य जैसी चीज सामने घटती हुई देखकर मेरा लिखा लेख कौन पढ़ेगा? आप डराने के लिए मुझे उस लड़की की खबर मत पढ़वाइए जो हर मुसीबत को लांघ एवरेस्ट चढ़ कर आई है। यह अच्छी खबर उसने अपने बूते बनाई है।

जो कपड़े आप पहनते हैं, जो बोतल आप पीते हैं, जो धुन आपको थिरकाती है, जो तेल आप लगाते हैं, जो दृश्य आपसे तालियां बजवाते हैं- वे आपके ही बनाए हुए हैं।

और आप चाहते हैं कि मैं एक अच्छी खबर से डरूं और बुरी खबरों पर गालियों का सुंदर सा मुजरा पेश करूं ताकि आप तालियां बजाएं? खेद है, मैं ऐसा नहीं कर सकूंगा।

1 view0 comments